कुत्ते रात में क्यों रोते है क्या अपशगुन होता है ?

0
1419

कुत्ते के रोने का कारण

दोस्तों कुत्ते की वफादारी के बारे में तो हम सभी जानते हैं। कभी-कभी इंसान एवं दूसरे जानवर कभी वफादारी करना भूल भी सकते है लेकिन एक कुत्ता ही ऐसा प्राणी है जो जीवन भर में कभी भी अपने मालिक को धोखा नहीं देते है। अगर आपने कभी एक बार भी कुत्ते को रोटी खिलाया होगा तो आपको मालूम होगा कि वह कुत्ता आपके प्रति कितने वफादार हुआ होगा। लेकिन हमारे समाज में कई ऐसी प्रकार की भ्रांतियां फैली हुई है जिसके कारण कुत्तों को भी कभी-कभी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आपने जहां एक तरफ कुत्ते की वफादारी एवं किस्से कहानियां सुने होंगे वहीं दूसरी ओर कुत्ते के रोने के अपशगुन भी सामने आते रहते है। औरत और कुछ लोग कुत्ते की रोने की वजह भूत प्रेत आत्मा को दिखाई देने की वजह मानते हैं। (कुत्ते रात में क्यों रोते है क्या अपशगुन होता है )

हम लोगों ने बचपन से लेकर आज तक यही मानते हैं कि कुत्ते का रोना अपशगुन होता है। चाहे कुत्ता दिन में रोता हो या रात में और कभी कभी कुत्ते की रोने की वजह से हम रात में ठीक से सो भी नहीं पाते है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि अधिकतर कुत्ते रात्रि के समय ही रोते हैं। लेकिन सबसे बड़ा कारण यह है कि कुत्ते रात में रोते क्यों है क्या इसके आसपास प्रेत आत्माओं का वास होता है या फिर इसके रोने के पीछे की असली वजह कोई ओर है, तो चलिए जानते हम लोग कुत्ते के रोने से जुड़े रहस्य के बारे में?

कुत्ते रात में क्यों रोते है क्या अपशगुन होता है ?

अगर हम कुत्ते के रोने के मान्यताओं के बारे में जाने तो कुत्ते का रोना रात में अशुभ माना जाता है क्यों कि यह जल्द ही घटित होने वाली किसी बड़ी अनहोनी का संकेत देता है। और केवल रात में ही नहीं दिन में भी कुत्तों का रोना शुभ माना जाता है इसलिए जब भी कोई कुत्ता दिन में रोता है तो उस दिन जरूरी कामों को करने से बचा जाता है। इसके अलावा कुछ बड़े बुजुर्गों का यह भी कहना है कि जब भी कुत्ता रात्रि के समय रोता है तो यह संकेत देता है कि किसी आस पड़ोस में किसी की मृत्यु होने वाली है।

लेकिन हम अगर ज्योतिषशास्त्र की बात करें तो इसमें ऐसा कहा गया है कि कुत्ते रात्रि मे तभी रोते हैं जब उसके आसपास किसी नकारात्मक ऊर्जा या आत्माओं का का प्रभाव हो।ऐसा माना जाता है कि कुत्ते आत्माओं को साफ-साफ देख लेते हैं इसलिए वह रोने लगते है।

 कुत्ते की रोने की वजह वैज्ञानिक दृष्टिकोण?

अगर हम कुत्ते के रोने की वज़ह वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखें तो इसका कुछ अलग ही प्रमाण निकल कर सामने आता है। वैज्ञानिकों के अनुसार कुत्ते के रोने की वजह कुछ और माना जाता है। दरअसल कुत्ते एक भेड़िया की प्रजाति का ही जानवर  है इसलिए अधिकतर कुत्ते भेड़िया की तरह बर्ताव करते हैं। जिस तरह भेड़िए अपने साथी को अपने संदेश भेजने के लिए आवाज निकालते हैं ठीक उसी तरह कुत्ते भी अपने दूसरे साथी को संदेश भेजने के लिए रोने का आवाज निकालते हैं।

कुछ वैज्ञानिकों का यह भी मानना कि कुत्ते जब किसी दर्द में होते हैं तो भी वह रोने की आवाज निकालते हैं। कुत्ता एक सामाजिक प्राणी है जिसे इंसानों के साथ मिलजुल कर रहना पसंद है कोई जब भी वह बाहर अकेले रहते हैं कोई इसके साथ ही नहीं रहा था तो उसे अकेलापन महसूस होने लगता है और वह रोने की आवाज का निकालने लगता है।

गरुड़ पुराण:- मृत्यु समीप आने पर इंसान को क्या करना चाहिए?

गरुड़ पुराण:- मनुष्य को कैसे मिलता है स्वर्ग और नरक जानिए?

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here