मेंढक के बारे में रोचक जानकारी- Amazing facts of Frogs.

0
605

Frogs – मेंढक

वैसे तो मेंढक एक बहुत ही अनोखा जीव है यह जमीन और पानी दोनों जगह बड़े ही आराम से रह लेते हैं। दिखने में तो यह बहुत ही छोटा सा जानवर है मगर यह बड़ा अनोखा एवं आश्चर्यचकित कर देने वाला जीव है जिसका दुनिया भर में लगभग 1000 से भी अधिक प्रजातियां पाई जाती है। मेंढक कभी भी पानी को पीते नहीं है बल्कि इनका शरीर पानी को सोख लेते हैं यानी कि अपने अंदर पानी की कमी को पूरा कर लेते हैं। मेंढक एक ऐसा प्राणी है जो कई दिन तक बिना खाना खाए जमीन के अंदर रह सकते हैं हालांकि यह एक बहुत ही पेटू जानवर है जिन्हें खाना खाना बहुत पसंद है। तो आज हम लोग मेंढक के बारे में कुछ रोचक जानकारी के बारे में जानेंगे जिन्हें शायद ही आप लोग जानते होंगे।मेंढक के बारे में रोचक जानकारी- Amazing facts of Frogs.

मेंढक के बारे में रोचक जानकारी- Amazing facts of Frogs.

  •  मेंढक छलांग लगाने में बहुत एक्सपर्ट होते हैं मेंढक के पैरों की बनावट ही ऐसी होती है कि उसे छलांग लगाने में बिल्कुल भी देरी नहीं होती है। मेंढक के पिछले भाग का पैर आगे की तुलना में बहुत बड़े होते हैं इसलिए वह ऐसा कर पाते हैं।
  •  Frogs मेंढक अधिकतर बरसात के दिनों में ही दिखते हैं और जब सर्दी के समय आता है तो एक भी मेंढक दिखाई नहीं देता है ऐसा इसलिए होता है कि मेंढक को सर्दी के समय ठंड से बचने के लिए जमीन के अंदर रहना पड़ता है। इसलिए यह बहुत सारा भोजन एक साथ खाकर जमीन के अंदर लंबे समय तक के लिए चले जाते हैं।
  •  क्या आपको पता है कि एक मेंढक अपने शरीर के वजन के बराबर एक बार मे कीड़े खा सकते हैं। प्रकृति का यह संतुलन बनाए रखने के लिए मेंढक का यह बहुत बड़ा योगदान है।
  •  मेंढक के टरटराआने की आवाज बहुत दूर तक सुनी जा सकती है यह सबसे ज्यादा बारिश के मौसम में ही टरटराआते हैं क्योंकि बारिश का मौसम इसका पसंदीदा मौसम होता है।

 Interesting facts about of frogs

  •  मेंढक की आंखों की बनावट इस तरह होती है कि यह एक ही साथ में ऊपर नीचे दाएं बाएं सभी जगह देख सकती हैं क्योंकि यह अपने आंखों को चारों ओर घुमाकर चारों तरफ देख सकते हैं।
  •  यह एक मांसाहारी जीव है यह छोटे-मोटे कीड़े, केचुआ, और भी कई तरह के कीड़े खा जाते हैं। मेंढक अपने शरीर के हिसाब से सबसे ज्यादा भोजन करने वाला जानवर  है यह तब तक खा सकते हैं जब तक उन्हें भोजन मिलता रहे। कभी-कभी यह अपने शरीर के वजन से भी थोड़ा ज्यादा खाना खा लेते है।
  •  लगभग 3 साल की ही उम्र में ही मेंढक प्रजनन के लिए तैयार हो जाते हैं। मेंढक पानी में ही अपने बच्चों को जन्म देते हैं जब तक मेंढक के बच्चे व्यस्क नहीं हो जाता तब तक यह पानी में ही रहते हैं। मेंढक प्रजनन भी पानी में ही करते हैं और अंडे भी पानी में ही देते हैं।

 मेंढक के बारे में रोचक तथ्य –

  •  मेंढक की बहुत सारी प्रजाति जहरीली भी होती है जिनका शरीर में काफी मात्रा में जहरीला पदार्थ पाया जाता है। Golden Frogs प्रजाति के मेंढक सबसे ज्यादा जहरीले होते हैं।
  • Frogs मेंढक ज्यादातर छोटे तालाब, नदी-नालों, झीलों एवं मीठे पानी वाले जगहों पर पाए जाते हैं। मेंढक का समुद्री यानि खारे पानी में जिंदा रहना बहुत मुश्किल होता है।
  •  भारत में लगभग 110 प्रजाति के मेंढक पाए जाते हैं और सभी प्रजाति के मेंढक कीड़े-मकोड़े खाने के बहुत ही शौकीन है।
  •  मेंढकों का सबसे ज्यादा पसंदीदा मौसम बरसात का मौसम होता है इस मौसम में इन्हें खाना पीना बहुत ही ज्यादा पसंद होता है इसके अलावा यह सब इसी मौसम में प्रजनन करते हैं।
  •  वैज्ञानिक के द्वारा मेंढक पर रिसर्च सबसे अधिक रिसर्च होता है। और साथ ही मेंढक के विलुप्त का कारण इसका स्वादिष्ट मांस है क्योंकि इसके मांस के कारण ही इन्हें बहुत सी जगह पर मारा जाता है क्योंकि विदेशों में कई ऐसी जगहों पर मेंढक का मांस बहुत लोकप्रिय है।
  •  सन 1986 में भारत सरकार ने मेंढक के निर्यात पर रोक लगा दी थी क्योंकि मेंढक का पर्यावरण मे संतुलन बनाए रखने के लिए बहुत बड़ा योगदान है क्योंकि मेंढक अपने वजन के बराबर कीड़े खा जाते है तो आप ही सोचो कि मेंढक का पर्यावरण के दुश्मन के सफाई करने में कितना बड़ा हाथ है।
  •  मेंढक हमारे आसपास रहने वाले जीवो में से एक है पर्यावरण एवं फसलों की किड़ो से दुर्गति होने वाले से रक्षा करता है इसलिए हम सब का कर्तव्य बनता है कि मेंढकों की सुरक्षा करनी चाहिए।

मोर के बारे में रोचक जानकारी – Amazing facts of Peacock.

कबूतर के बारे में रोचक जानकारी – amazing facts of pigeon.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here