पूजा करते समय अगरबत्ती जलाना सही है या गलत?

0

मित्रों आपने अक्सर यह देखा हो लोग भगवान की पूजा करने के लिए सामग्री में अगरबत्ती का प्रयोग भी करते हैं। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि अगरबत्ती से कई शुभ लाभ प्राप्त होते हैं लेकिन क्या आपको सचमुच में यह पता है की पूजा करते समय अगरबत्ती जलाने शुभ होता है या अशुभ, अगर नहीं तो चलिए आज हम मिलकर जानते हैं।पूजा करते समय अगरबत्ती जलाना सही है या गलत?

पूजा करते समय अगरबत्ती जलाना सही है या गलत?

ऐसी मान्यता है कि घर में धूप अगरबत्ती करने से परिवार में हो रहे लड़ाई झगड़े कम होते हैं और एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। पूजा में अगरबत्ती के साथ ही भगवान के सामने कपूर घी का दीपक और धूप जलाना शुभ माना गया है। भगवान में आस्था रखने वाले हर इंसान के घर में पूजा स्थल जरूर मिलता है और उस स्थल में भगवान की कृपा के लिए सामग्री रखना आवश्यक माना गया है। यही सामग्रियों में से एक है अगरबत्ती।

अगर ज्योतिषीय दृष्टि से देखा जाए तो अगरबत्ती को शुभ और समृद्धि का प्रतीक माना गया है। अगरबत्ती जलाने से देवी लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त होता है और माता की कृपा आप पर बनी रहती है। और तो और इससे जुड़ी और कुछ बातें वास्तु और ज्योतिषीय बातें पाए गए हैं जिसे करने से आपके घर से नकारात्मकता दूर होती है।

 वास्तु शास्त्र के अनुसार अगरबत्ती जलाना

वास्तु शास्त्र के अनुसार हमें हर दिन अगरबत्ती जलाने से घर का वास्तु दोष खत्म हो जाता है। कई बार खराब वास्तु के कारण भी आपका जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है आपके बने-बनाए काम बिगड़ जाते हैं और आप मानसिक तनाव का शिकार हो जाते हैं इसीलिए हर दिन अगरबत्ती जलाने से आप ना सिर्फ आप इसे परेशानियों से मुक्ति पा सकते हैं साथ ही घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा सकारात्मक ऊर्जा में बदल जाती है।

इसके अलावा बता दें कि दक्षिण दिशा को वास्तु शास्त्र में यमराज की दिशा माना गया है क्योंकि इसे नकारात्मक से जोड़कर देखा जाता है लेकिन वास्तु विज्ञान की माने तो घर के दक्षिण दिशा में हर दिन अगरबत्ती जलाई जाती है तो इससे घर में आने वाली बुरी शक्ति दूर रहते हैं। इसके अलावा अगरबत्ती जलाने से जो धुआ निकलता है उससे भी हानिकारक वाइरस खत्म होते हैं यानी कि अगरबत्ती जलाने से आपको स्वास्थ्य लाभ भी मिलता है।

इसके साथ ही साथ आप को यह मानसिक शक्ति प्रदान करती है तो वहीं अगर आप आर्थिक मुसीबतों से जूझ रहे हैं तो आपको सुबह शाम घर में अगरबत्ती जलानी चाहिए।  मित्रों आप यह भी जानते हो कि हमारे शास्त्रों में बांस की लकड़ी को जलाना मना है किसी भी हवन या पूजा विधि में बांस को नहीं जलाते ऐसा माना गया है कि यदि बांस की लकड़ी को जलाया जाए तो इससे आपका वंश खत्म हो जाता है और पित्र दोस लगता है।

वास्तु विज्ञान में भी बांस को शोभा माना गया है शादी जनेउ एवं मुंडन आदि में उसकी पूजा और बांस के मंडप बनाने के पीछे यही कारण है इसीलिए बांस को जलाना शुभ नहीं माना जाता है। ऐसी भी मान्यता है कि जहां बांस का पौधा होता है वहां बुरी आत्माएं नहीं आती और बांस नो जलाने के पीछे कई वैज्ञानिक कारण भी है। क्योंकि इसकी लकड़ी मैं लेड जैसी धातु पाई जाती है ऐसे मैं अगर आप इसे जला कर खत्म करते हैं तो यह धातुएं जलकर ऑक्साइड बनाती है जिसके कारण वातावरण दूषित हो जाता है और यह आपकी सेहत के लिए खतरनाक साबित होता है।

पूजा करते समय अगरबत्ती जलाना सही है या गलत?

जब आप सांस लेते हैं तो इसका धुआं आपके शरीर में प्रवेश कर जाता है और इससे आपको सांस संबंधित परेशानियां हो सकती है दोस्तों आपने यह तो जान लिया लेकिन आप यह नहीं जानते होंगे कि ज्यादातर अगरबती बांस से ही बनाई जाती है इसीलिए पूजा में इसे जलाना शुभ नहीं माना है। शास्त्रों में भी पूजन विधान में अगरबत्ती का उल्लेख नहीं मिलता सब जगह धूप ही लिखा मिलता है। वहीं अगर बतियां बांस और केमिकल से बनाए जाती है जिससे आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ता है इसके साथ ही फेंगशुई में बांस के पौधे को बहुत शक्तिशाली पौधे माना गया है। यह अच्छे भाग्य का संकेत देता है यही कारण है कि इसे जलाना फेंगशुई के नजर में भी अशुभ है।

तो दोस्तों फैसला आप ही करें कि क्या आप अगरबत्ती का प्रयोग करते रहेंगे या फिर नहीं। तो दोस्तों आज की यह पोस्ट आपको कैसी लगी नीचे कॉमेंट्स में लिखकर जरूर बताएं और अगर अच्छी लगी हो तो इसे अपने मित्रों और रिश्तेदारों के साथ भी साझा जरूर करें ऐसी सभी धार्मिक और आध्यात्मिक जानकारी के लिए जुड़े रहे आप मेरे साथ धन्यवाद।

भाग्य बदलने से पहले मनुष्य को मिलते हैं यह संकेत?

जन्म से पहले और मृत्यु के बाद आत्मा कहां रहती है – गरुड़ पुराण?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here